What is Aerospace Science and Engineering in Hindi

Aerospace Science and Engineering, you learn how to design an aircraft, build an aircraft, and operate an aircraft.

Aerospace Science and Engineering in Hindi

क्या यह एक रॉकेट साइंस है, क्या आप एक विमान बनाने में मदद करना चाहते हैं?

… नहीं दोस्तों यह एक रॉकेट साइंस या विमान बनाने से बहुत बढ़कर हैं,  इसका मतलब बहुत कुछ !

एयरोस्पेस साइंस में आपकी जिज्ञासा, रचनात्मकता को संतुष्ट और विकसित करने की शक्ति है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन है।

एयरोस्पेस साइंस में क्या-क्या कर सकते हैं? | What can you do in Aerospace Science in Hindi?

एयरोस्पेस विज्ञानं में अंतरिक्ष यात्री बनने, हवाई जहाज को डिजाइन करने, मिशन कंट्रोल से अंतरिक्ष यान को कंट्रोल करने या मंगल ग्रह पर कॉलोनी बनाने या सुदूर अंतरिक्ष में नयी खोज करना कुछ भी हो सकता हैं । इसकी कोई सीमा नहीं हैं |एयरोस्पेस साइंस, में आप विमान का डिज़ाइन कैसे करते हैं, विमान का निर्माण कैसे करते हैं और विमान का संचालन कैसे होता हैं आदि सब कुछ सीख सकते हैं।

Aerospace Science
Aerospace Science

एयरोस्पेस साइंस पुराने समय से आज तक | Aerospace Science from time immemorial to the present day in Hindi

एयरोस्पेस साइंस, उस किट्टी हॉक में उस हवादार दिन के बाद से एक लंबा सफर तय कर चुका हैं जब राइट ब्रदर्स ने पहली बार उड़ान भरी थी। उस समय आज के जैसे आधुनिक विमानों की, आज की तकनीक की कल्पना करना भी मुश्किल था। अब, विमान ध्वनि की गति से भी कई गुना तेज उड़ान भरते हैं, और अंतरिक्ष यान हमारे सौर मंडल के भीतर अन्य ग्रहों, उपग्रहों आदि की यात्रा करते हैं।

Aerospace science from old to today
Aerospace science from old to today

एयरोस्पेस इंजीनियर | Aerospace Engineer in Hindi

आज के एयरोस्पेस इंजीनियर विमान, अंतरिक्ष यान, उपग्रहों और मिसाइलों के निर्माण का डिजाइन, विकास, परीक्षण करते हैं। आज के एयरोस्पेस इंजीनियर वायुगतिकी जैसे क्षेत्रों में विशेषज्ञ होते हैं जो विमानन, रक्षा प्रणालियों और अंतरिक्ष अन्वेषण में उपयोग के लिए नई तकनीकों का विकास करते हैं। वे कंप्यूटर एडेड डिजाइन सॉफ्टवेयर, रोबोटिक्स, लेजर और उन्नत इलेक्ट्रॉनिक्स का उपयोग करते हैं।

एयरोस्पेस इंजीनियर एयरोस्पेस विज्ञान के किसी एक क्षेत्र में कुशल होते हैं जैसे सैन्य विमान, हेलीकॉप्टर, अंतरिक्ष यान, मिसाइल, वाणिज्यिक विमान और रॉकेट विज्ञान आदि।

एरोनॉटिकल इंजीनियर और एस्ट्रोनॉटिकल इंजीनियर अलग- अलग हैं ! Difference between Aeronautical Engineer and Astronautical Engineer in Hindi

एयरक्राफ्ट फील्ड में काम करने वालों को एरोनॉटिकल इंजीनियर कहा जाता है और स्पेसक्राफ्ट फील्ड में काम करने वालों को एस्ट्रोनॉटिकल इंजीनियर कहा जाता है।

सभी एयरोस्पेस इंजीनियर एरोनॉटिकल इंजीनियर और एस्ट्रोनॉटिकल इंजीनियर नहीं होते हैं।

कुछ एयरोस्पेस इंजीनियर अपने ज्ञान का उपयोग यह अध्ययन करने के लिए करते हैं कि एक बड़े शहरी क्षेत्र में एक नई इमारत को हवा कैसे प्रभावित करेगी, एक ऊर्जा-संरक्षण गगनचुंबी इमारत को डिजाइन करने के लिए।

एयरोस्पेस प्रौद्योगिकी का उपयोग अब जमीन से जुड़े वाहनों के डिजाइन और विकास में भी किया जा रहा है, जैसे ऑटोमोबाइल, हाइड्रोफॉइल जहाज, समुद्र विज्ञान अनुसंधान के लिए गहरे डाइविंग जहाजों, और उच्च गति रेल सिस्टम।

एयरोस्पेस विज्ञानं का भविष्य | Future of Aerospace Science in Hindi

एयरोस्पेस विज्ञान का भविष्य रोमांचक और चुनौतीपूर्ण है। लेकिन एयरोस्पेस विज्ञानं की बदौलत आप आने वाले समय में अन्य ग्रहो पर कॉलोनीयों का निर्माण, अंतरिक्ष में सौर ऊर्जा स्टेशन,  कुछ ही घंटों में पृथ्वी पर किसी भी बिंदु की यात्रा करना और बहुत सी ऐसी कल्पनयीय सोच को साकार होते हुए देखेंगे.

आपके लिए-

कौन जानता है, आप भविष्य में एक एयरोस्पेस छात्र के रूप में इन रोमांचक परियोजनाओं में से एक का हिस्सा हो सकते हैं।


Is it rocket science… No friends, it is more than rocket science or making an aircraft, it means a lot!

Aerospace science can be anything from becoming an astronaut, designing an airplane, controlling a spacecraft with mission control, or building a colony on Mars, or making discoveries in distant space. It has no limits.

In Aerospace Science and Engineering, you can learn everything about how to design an aircraft, build an aircraft, and operate an aircraft.

Aerospace Science from time immemorial to the present day

Aerospace science has come a long way in Kitty Hawk since that windy day when the Wright Brothers first took off.  At that time it was difficult to even imagine the technology of today’s aircraft. Now, planes fly many times faster than the speed of sound, and spacecraft travel to other planets, satellites, etc. within our solar system.

Today’s aerospace engineers design, develop, test the construction of aircraft, spacecraft, satellites, and missiles. Today’s aerospace engineers specialize in areas such as aerodynamics that develop new technologies for use in aviation, defense systems, and space exploration. They use computer-aided design software, robotics, lasers, and advanced electronics.

Aerospace engineers are skilled in any one area of aerospace science such as military aircraft, helicopters, spacecraft, missiles, commercial aircraft, and rocket science, etc.

Those working with aircraft field are called aeronautical engineers, and those working with spacecraft fields are called astronautical engineers.

Not all aerospace engineers are aeronautical engineers and astronautical engineers

Some aerospace engineers use their knowledge to study how the wind will affect a new building in a large urban area, to design an energy-conserving skyscraper.

Aerospace technology is also now being used in the design and development of land-bound vehicles, such as automobiles, hydrofoil ships, deep-diving vessels for oceanographic research, and high-speed rail systems.

The future of aerospace science

The future of aerospace science is exciting and challenging. But thanks to aerospace science, you will see the formation of colonies on other planets, solar power stations in space, traveling to any point on Earth in a few hours, and many more such conceivable ideas coming true.

For You

Who knows, you may be a part of one of these exciting projects as an aerospace student in the future.

Share your love
Awanish Kumar
Awanish Kumar
Articles: 52

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!