Accountant कैसे बने [Steps to become an Accountant in Hindi]

Accountants are responsible for a variety of finance-related tasks that are primarily associated with the preparation of financial records.

Accountant in Hindi

किसी भी फर्म के लिए अकाउंटेंट की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है क्योंकि एक अकाउंटेंट के रूप में आपको कंपनी के लाभ और हानि, कंपनी के वित्त आदि के बारे में बहुत सारे सवालों के जवाब देने होते हैं। अकाउंटेंट की एक गलती कंपनी को जोखिम में डाल सकती है।

अकाउंटेंट क्या करता है? (What does an accountant do in Hindi)

अकाउंटेंट विभिन्न प्रकार के वित्त-संबंधित कार्यों के लिए जिम्मेदार होते हैं जो मुख्य रूप से वित्तीय रिकॉर्ड तैयार करने से जुड़े होते हैं। इन कार्यों में अक्सर करों की गणना करना और कर रिटर्न तैयार करना, वित्तीय रिकॉर्ड व्यवस्थित करना और बनाए रखना और यह सुनिश्चित करना शामिल है कि तैयार किये गए विवरण सटीक हैं।

अकाउंटेंट की भूमिकाएं और जिम्मेदारियां (Roles and Responsibilities of an Accountant in Hindi)

  • वित्तीय विवरण और बजट प्रदर्शन जैसी वित्तीय रिपोर्ट तैयार करने में सहायता करना।
  • नई लेखा नीतियों, मानकों और दिशानिर्देशों के कार्यान्वयन में सहायता करना।
  • वित्तीय जानकारी की सटीक, समय पर और प्रासंगिक रिकॉर्डिंग, रिपोर्टिंग और विश्लेषण करना।
  • वित्तीय सुधार के लिए क्षेत्रों की पहचान करना और प्रक्रियाओं में सुधार लागू करना।
  • ऑडिटर के रूप में कार्य करना।
  • संवेदनशील वित्तीय जानकारी को गोपनीय रखना।

कौशल (Skills of an Accountant in Hindi)

एक अकाउंटेंट के पास निम्नलिखित स्किल्स होनी चाहिए –

  • कम्युनिकेशन स्किल
  • एनालिटिकल स्किल
  • रिलेशनशिप स्किल
  • व्यावसायिक कौशल
  • टेक सेवी

शिक्षा (Qualification for an Accountant in Hindi)

अकाउंटेंट के पास आम तौर पर लेखांकन, वित्त, या संबंधित क्षेत्र में स्नातक की डिग्री होती है। अकाउंटेंट आमतौर पर चार श्रेणियों में से एक में आते हैं: Public Accountant, Management Accountant, Government Accountant, or Internal Auditor. अकाउंटेंट बनने के लिए कोई औपचारिक शिक्षा अनिवार्य नहीं है, हालांकि अकाउंट की बेसिक जानकारी रखने वाला व्यक्ति अकाउंटेंट बन सकता है –

10+2 के बादB.Com, BBA, M.Com, MBA
10+2, ग्रेजुएशनCA (चार्टर्ड अकाउंटेंट), CS (कंपनी सेक्रेटरी), CWA
10+2, ग्रेजुएशनसर्टिफिकेट या डिप्लोमा कोर्स
सॉफ्टवेयरTally, Busy, Microsoft Office Suite

अकाउंटेंट बनने के चरण (Steps to become an Accountant in Hindi)

1 – बी.कॉम ग्रेजुएशन के तुरंत बाद अधिकांश फर्म आपको अकाउंटेंट के रूप में नियुक्त नहीं करेंगी क्योंकि आपके पास अनुभव नहीं होता है।

तो यह अनुभव कहाँ से प्राप्त करें?

अगर आप अकाउंट्स में करियर बनाना चाहते हैं तो कुछ समय के लिए या कम से कम एक साल के लिए आपको चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) के तहत काम करना होगा। यह मत सोचो कि वे तुम्हें अच्छा पैकेज देंगे। इसके लिए, वे आपको थोड़ा सा ही भुगतान करेंगे (मेरा मतलब है कि आप इसे वेतन के रूप में नहीं कहेंगे) या कुछ भी नहीं। चिंता न करें यह एक इंटर्नशिप की तरह होगा और अंत में आप बहुत कुछ सीखेंगे।

2 – आजकल ऐसे कई इंस्टिट्यूट हैं जो प्रोफेशनल अकाउंटिंग या इंडस्ट्रियल अकाउंटिंग पढ़ाते हैं। इसलिए ग्रेजुएशन के बाद सही संस्थान का पता लगाएं और उससे इंटर्नशिप करें।

ये इंस्टिट्यूट एक बी.कॉम स्नातक को एक सफल अकाउंटेंट बनने के लिए प्रशिक्षित करते हैं। वे आपको GST, Computerized Accounting, TDS, E-Payment, E-Filing, Business Accounting, Auditing, Share Market आदि के बारे में सिखाते हैं।

अकाउंटेंट के लिए कोर्स (Courses for an Accountant in Hindi)

इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कई तरह के अकाउंटिंग कोर्स में से चुन सकते हैं। कुछ लोकप्रिय अकाउंटेंट कोर्सेस इस प्रकार हैं –

डिग्री कोर्स (Degree Course)

BCom in Accounting & FinanceMCom in Accounting & Finance
BCom in Accounting & TaxationMCom in Accounting & Taxation
BBA in Accounting & FinanceMBA in Accounting & Finance

डिप्लोमा कोर्स (Diploma Course)

Diploma in Business Accounting
Diploma in Accounting Management
Diploma in Transfer Pricing
Diploma in Advanced Accounting
Diploma in Accounting Science
Diploma in Accounting & Finance
PG Diploma in Accounting
PGDM in Accounting & Finance

Accounting Courses Colleges in India

SRM University Chennai – SRM Institute of Science and Technology
Manipal University, Jaipur
Galgotias University, Greater Noida
Amity University, Noida

जॉब प्रोफ़ाइल (Job Profile for Accountant in Hindi)

Accountant
Junior Accountant
Senior Accountant
Finance Manager
Financial Analyst
Tax Consultant Specialist
Revenue Officer

अकाउंटेंट के लिए करियर के विकल्प (Career Options for an Accountant in Hindi)

एक अकाउंटेंट निम्नलिखित क्षेत्रों में नौकरी प्राप्त कर सकता है  या कार्य कर सकता है –

  • स्व-रोजगार
  • प्राइवेट सेक्टर में अकाउंटेंट के रूप में कार्य करना।
  • सरकारी क्षेत्र में अकाउंटेंट के रूप में कार्य करना।

किताबें (Books)

  • Corporate Accounting  (Rajasekaran V.)
  • Financial Accounting  (Tulsian P. C.)
  • Financial Management  (Khan M.Y.)
  • Tulsian’s Financial Management For CA Intermediate (New Syllabus) | For Paper 8A  (P. C. Tulsian, Bharat Tulsian, Tushar Tulsian)
Share your love
Awanish Kumar
Awanish Kumar
Articles: 52

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!