5G Technology क्या है, Advantages, Disadvantages of 5G Technology in Hindi

(5G technology in Hindi) is the mobile network of the fifth generation that offers faster network speed, lower latency.

5G Technology क्या है (5G Technology in Hindi)

5G नेटवर्क fifth generation का मोबाइल नेटवर्क है जिसमे तेज नेटवर्क स्पीड, कम लेटेंसी और ज्यादा फ्लेक्सिबिलिटी मिलती है।

5G नेटवर्क में अल्ट्रा-लो लेटेंसी (लेटेंसी: सूचना भेजने या प्राप्त करने में होने वाली देरी) होगी। 4G में होने वाली लेटेंसी दर औसतन 100 ms तक होती है लेकिन 5G में यह लेटेंसी दर 1 ms तक नीचे आ जाएगी।

इस अगली पीढ़ी के दूरसंचार नेटवर्क (5G या Fifth generation) ने बाजार में दस्तक दे दी है। जिस तेजी से 5G टेक्नोलॉजी पर काम हो रहा हैं उससे आने वाले वक्त में सम्पूर्ण विश्व में इसका विस्तार देखने को मिलेगा।

5G नेटवर्क (5G Network in Hindi)

5G को इतना तेज क्या बनाता है तो Communications Principles के अनुसार, फ्रीक्वेंसी जितनी कम होगी, बैंडविड्थ उतनी ही अधिक होगी। 5G नेटवर्क के लिए कम फ़्रीक्वेंसी (millimeter waves 30GHz और 300GHz के बीच) का उपयोग करके 5G को तेज़ बनाया जा सकता है। यह 5G स्पेक्ट्रम न केवल गति में बल्कि इसकी क्षमता और गुणवत्ता में भी तेजी प्रदान करता है।

5G नेटवर्क की स्पीड 4G नेटवर्क से लगभग 100 गुना तेजी होगी। और स्पीड यह अलग अलग जगहों पर अलग अलग हो सकती है।

Change with 5G technology in Hindi
Change with 5G technology in Hindi

2G से 4G और अब 5G टेक्नोलॉजी (2G to 4G and now 5G Technology)

पिछले चार दशकों में, किसी भी अन्य तकनीक की तुलना में मोबाइल फोन ने हमारे जीवन को हमेशा के लिए बदल दिया है।

1G (First Generation) में बहुत कम लोगों के पास फ़ोन था जिसके पास भी था वो केवल बात कर सकते थे उसके बाद तकनीक क्रांति हुई और 2G (Second Generation)का दौर आया जिसमे मोबाइल पर बात करने के साथ साथ मैसेज भेज सकते थे और इंटरनेट भी चला सकते थे लेकिन स्पीड बहुत कम थी।

उसके बाद तकनीक का और विकास हुआ और 3G (Third Generation)का दौर आ गया जिसमे बात भी कर सकते थे, मैसेज भी भेज सकते थे और इंटरनेट की स्पीड भी तेज थी ये मल्टीमीडिया मोबाइल का दौर था।

4G (4th Generation) चल रहा है और यह स्मार्टफोन का दौर है जिसमे बात करना, मैसेज भेजना, वीडियो कॉल करना , लाइव लोकेशन आदि बहुत कुछ कर सकते है।

और 2G से लेकर यहां तक जो 4G दौर चला वो एक पिछली जेनरेशन की तकनीक को आगे बढ़ाती है।

लेकिन आने वाला 5G (Fifth Generation) का दौर इन सबसे अलग होगा वो 4G को आगे नहीं बढ़ाएगी बल्कि 5G से एक नया दौर शुरू होगा। जो आपके जीवन स्तर को फिर से एक नयी तकनीक क्रांति में पंहुचा देगा।

  • 1G : Voice (NMT)
  • 2G : Voice and Text (GSM)
  • 3G : Mobile Data (W-CDMS)
  • 4G : Mobile Broadband (LTE )
  • 5G: Anything, Anywhere, Anytime Unlimited
Mobile Generations
Mobile Generations

5G तकनीक से फायदा या नुकसान (Advantages and Disadvantages of 5G technology in Hindi)

5G टेक्नोलॉजी इस सदी की सबसे बड़ी सफलताओं में से एक है, 5G केवल मोबाइल नेटवर्क की next generation नहीं है – यह दुनिया के लिए भी next generation है, इसके आने से होने वाले बदलाव साधारण नहीं होंगे।

5G तकनीक से फायदा (Advantages of 5G Technology in Hindi)

जो भी हम साइंस फिक्शन मूवीज में देखते हैं उसमें दिखने वाली ज्यादातर चीजें आपको शायद आने वाले दौर में आसानी से देखने को मिल जाये।

उदाहरण के तौर पर, आप सोचिये आपको 2 घंटे की मूवी डाउनलोड करनी है तो आपको  लगभग 3G पर 26 घंटे और 4G पर 10 मिनट लगते हैं लेकिन 5G पर केवल 3.5 सेकंड में डाउनलोड कर सकेंगे!

5G नेटवर्क में बहुत सी टेक्नोलॉजी आपस में बहुत तेजी से इनफार्मेशन को साझा करेंगी जिसमें

चार तरह की टेक्नोलॉजी का कॉम्बिनेशन बहुत सी समस्याओं को तो सुलझाएगा ही लेकिन इसके गलत इस्तेमाल के खतरनाक दुष्परिणाम भी सामने आएंगे। कौन सी हैं वो चार टेक्नोलॉजी –

5G टेक्नोलॉजी से स्मार्ट सिटी, स्मार्ट होम, सिक्योरिटी, हेल्थकेयर, वर्चुअल रियलिटी, क्लाउड गेमिंग, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स (IoT),  ड्राइवरलेस  व्हीकल्स आदि के क्षेत्र में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे।

5G तकनीक से होने वाला नुकसान (Disadvantage of 5G Technology in Hindi)

अब ये सवाल आपके ऊपर छोड़ता हूँ कि क्या किसी भी व्यक्ति के जीवन में कुछ भी निजी रह पायेगा, सोचिये | 5G एक ऐसा नेटवर्क है जिसमें मशीनों, वस्तुओं और उपकरणों सहित लगभग सभी को और सब कुछ एक साथ जोड़ा जा सकता है।

Now I leave this question to you whether anything can remain private in any person’s life, think. 5G is a network in which almost everything and everything can be connected together, including machines, objects and equipment.

वैसे तो बहुत से टेक्निकल नुकसान हैं जैसे –

  • उपकरणों की बैटरी जल्दी ख़त्म होना
  • अपलोडिंग और डाउनलोडिंग स्पीड में अंतर
  • साइबर सिक्योरिटी

भारत में 5G नेटवर्क के बारे में जानने के लिए क्लिक करें।

Question for you?

टेक्नोलॉजी हमेशा ही जन मानस की उत्सुकता को बढ़ाती रही है और जीवों की समस्याओं को सुलझाती रही है और उसके साथ साथ विनाश की ओर भी ले जा रही है आप क्या कहते है की 5G Technology (Fifth Generation) जैसी टेक्नोलॉजी के साथ कैसे आगे बढ़ना चाहिए। कमेंट करिये–

Share your love
Awanish Kumar
Awanish Kumar
Articles: 52

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!